हिंदुस्तान जिंक प्रतिष्ठित एसएंडपी ग्लोबल प्लैट्स ग्लोबल मेटल अवार्ड से सम्मानित

 


एकीकृत जिंक, लेड और सिल्वर की विश्व में सबसे बड़े उत्पादक में से एक कंपनी हिंदुस्तान जिंक, को 14 अक्टूबर, लंदन में एक विशाल हाइब्रिड इवेंट में आयोजित प्रतिष्ठित एस एंड पी ग्लोबल मेटल अवार्ड्स में इंडस्ट्री लीडरशिप अवार्ड - बेस, प्रीशियस एंड स्पेशलिटी मेटल्स पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 

एस एंड पी ग्लोबल प्लैट्स के ग्लोबल मेटल अवार्ड्स के नौवें संस्करण में व्यक्तिगत और कॉर्पोरेट उपलब्धियों में विभिन्न 16 श्रेणियों में धातु उद्योग में सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार से सम्मानित किया। हिंदुस्तान जिंक ने विश्व के 21 देशों में 113 फाइनलिस्ट में से इंडस्ट्री लीडरशिप अवार्ड का गौरव हासिंल हुआ है।

“हिंदुस्तान जिंक को सम्मानित एसएंडपी ग्लोबल मेटल अवार्ड्स हासिंल होने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए हिन्दुस्तान जिं़क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूण मिश्रा ने कहा कि यह हमारे लिये गौरव की बात है। यह मान्यता हमारे नवाचार और प्रौद्योगिकी के दृष्टिकोण का परिणाम है, जो हमारे संचालन में उच्च प्रदर्शन संस्कृति को बढ़ावा देता है। 

हिंदुस्तान जिंक को संचालित करने वाले मुख्य सिद्धांतों में से एक पर्यावरण और सस्टेनेबिलिटी के प्रति हमारी प्रतिबद्धता है। हम उच्चतम ईएसजी मानकों के साथ विश्व में उत्पादित सर्वोत्तम-इन-क्लास धातु प्रदान करने के अपने उद्देश्य पर केंद्रित रहे हैं। 

यह पुरस्कार हमारे सभी हितधारकों, कर्मचारियों और लोगों, जो जिम्मेदार व्यावसायिक प्रथाओं के प्रति हमारी सामुहिक प्रतिबद्धता पूर्ण करने का परिणाम है। ‘‘
 

एसएंडपी ग्लोबल प्लैट्स के अध्यक्ष सौगाटा साहा ने कहा कि हम अंतिम दौर में पहुंचने वाले और विजेताओं को अनूठी चुनौतियों का सामना करने और बदलाव को स्वीकार करते हुए उपलब्धि के लिए बधाई देते हैं।


एस एंड पी ग्लोबल प्लैट्स के ग्लोबल हेड ऑफ प्राइसिंग एंड मार्केट इनसाइट डेव अर्न्सबर्गर ने कहा, कि इस साल के ग्लोबल मेटल्स अवार्ड्स में इस उद्योग की कम कार्बन भविष्य के लिए नवाचार की बढ़ती प्राथमिकता है, जो नामांकन और पुरस्कार श्रेणी के फोकस में स्पष्ट था। यह आश्चर्य की बात नहीं है, लेकिन निश्चित रूप से उत्साहजनक है।

 
हिंदुस्तान जिंक अग्रणी तौर पर सतत् समाजोत्थान सुनिश्चित करते संचालित किया जाता है। कंपनी को मेटल माइनिंग उद्योग में अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ कार्यप्रणाली और कर्मचारियों की पहल के लिए जाना जाता है। हिंदुस्तान जिंक, सामाजिक रूप से जिम्मेदार कॉर्पोरेट के रूप में, अपने व्यावसायिक स्थानों के आसपास ग्रामीण और आदिवासी समुदायों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने और बढ़ाने के लिए प्रयासरत है। 

कंपनी राजस्थान और उत्तराखंड के 189 गांवों में सामुदायिक हित हेतु विभिन्न परियोजनाएं संचालित कर रही है।
कल के बेहतर और हरित भविष्य हेतु जीरो हार्म, जीरो वेस्ट, जीरो डिस्चार्ज की अपनी कार्यप्रणाली से हिंदुस्तान जिंक अभूतपूर्व सस्टेनेबल पहल विकसित करने पर दृढ़ है। 

कंपनी 2025 के लिए जलवायु के प्रति जागरूक और प्रकृति सकारात्मक स्थिरता लक्ष्यों पर ध्यान केंद्रित कर रही है, जिसमें संचालन में उत्सर्जन में कमी, प्रक्रिया अपशिष्ट के उपयोग में तेजी लाना, और कई अन्य उद्देश्यों के साथ सामाजिक, आर्थिक और पर्यावरणीय परिणामों के माध्यम से ग्रामीण जीवन को सकारात्मक रूप से प्रभावित करना शामिल है। 

हिंदुस्तान जिंक की अपने परिचालन को और अधिक सस्टेनेबल और पर्यावरण के अनुकूल बनाने के लिए अगले 5 वर्षों में 1 अरब डॉलर से अधिक के निवेश की योजना है।

Previous Post Next Post