आगरा के कैलाश प्रसाद इंडो- बांग्लादेश चैंपियनशिप T-20 में भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम के कप्तान बने

भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर क्रिकेटर कैलाश प्रसाद को आगरा जयपुर अजमेर में होने वाली बांग्लादेश के खिलाफ क्रिकेट सीरीज के लिए भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम का कप्तान बनाया गया है.
 दिव्यांग क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ऑफ इंडिया के महासचिव हारून रशीद ने बताया कैलाश प्रसाद ने 2007 से भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम के नियमित सदस्य के रूप में हमेशा शानदार प्रदर्शन किया है कैलाश के प्रदर्शन को देखते हुए 2015 में कैलाश को भारतीय टीम का उप कप्तान बनाया था लेकिन 2016 और 2017 में कैलाश का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और कुछ मैचों में भारतीय टीम से बाहर रहना पड़ा लेकिन नेशनल चैंपियनशिप में कैलाश ने जबरदस्त वापसी करते हुए एक बार पुनः भारतीय टीम में स्थान बनाया और मुड़कर नहीं देखा अभी हाल ही में शारजाह के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित दिव्यांग प्रीमियर लीग मे चेन्नई सुपर स्टार से खेलते हुए कैलाश मैन ऑफ द सीरीज रहे हैं.

 कैलाश का बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में आक्रमक स्वभाव है जो टीम को मजबूती प्रदान करता है कैलाश मैदान के अंदर आक्रामक अंदाज में रहने वाले कैलाश प्रसाद 1-1 गेंद पर जूझते हैं अपनी तरफ से गेंदबाजी बल्लेबाजी एवं क्षेत्र रक्षण में किसी भी प्रकार की कसर बाकी नहीं रहने देते अपने प्रखर स्वभाव के लिए भी कैलाश संपूर्ण भारत में एक विशेष पहचान बनाए हुए हैं कैलाश प्रसाद ने कई अंतरराष्ट्रीय मैचों में मैन ऑफ द मैच रहे हैं चाहे वह नेपाल के खिलाफ हो श्रीलंका के खिलाफ बांग्लादेश के खिलाफ कैलाश का प्रदर्शन बेहतरीन रहा है । कैलाश प्रसाद ने देश और विदेश में खिलाड़ी के साथ साथ टीम को अपने स्वभाव से एकजुट रखा है।

यह पहला अवसर है कि किसी भी प्रकार की क्रिकेट में आगरा के किसी खिलाड़ी को कप्तान होने का अवसर मिला है कैलाश प्रसाद गांव कल्याणपुर धनौली आगरा के निवासी भगवती प्रसाद के पुत्र हैं इस अवसर पर दिव्यांग क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मुकेश कंचन मुख्य चयनकर्ता आशीष श्रीवास्तव कोषाध्यक्ष दुर्गेश शर्मा सचिव हारून रशीद, संरक्षक कंचन शर्मा सहित डीसी सीबीआई के सभी अधिकारियों और खिलाड़ियों  ने कैलाश प्रसाद के कप्तान चुने जाने पर को बधाइयां दी है


Previous Post Next Post